विषम परिस्थिति में भी रेलवे चाइल्ड लाइन काम पर

जहाँ पूरा देश कोरोना के कारण लॉक डाउन की चपेट में है वही अलीगढ़ रेलवे स्टेशन पर स्थित चाइल्ड लाइन की टीम परिजनों से बिछुड़े बालकों की सेवा में कार्यरत है |

चाइल्ड लाइन के निदेशक ज्ञानेंद्र मिश्रा ने बताया कि आठ वर्षीय बालिका शाईमा पुत्री वाहिद खांन व् रूबी बेगम, हाल निवासी गली नम्बर 14 मुल्ला कॉलोनी पुरानी दिल्ली व मूल निवासी गांव राजन, थाना गुरुआ, जिला गया, बिहार की रहने वाली है। शाईमा आज दिनांक 21/03/2020 को अपने माता-पिता के साथ दिल्ली से अपने गांव राजन जाने के लिए दिल्ली रेलवे स्टेशन पर पहुँची। बच्ची अपने परिजनों से वहीं पर बिछुड़ गई और वह बिहार की ओर आने बाली मगध एक्सप्रेस में अकेली चढ़ गई। ट्रेन में सवार यात्री रिन्की ने जब बच्ची को अकेले देख पूछताछ की तो यात्री रिन्की को लगा कि बच्ची को मदद की जरूरत है। उन्होंने तुरंत 112 नंम्बर डायल कर बच्ची के बारे में सूचना दी। अलीगढ़ जी आर पी ने बच्ची को स्टेशन पर उतार कर थाना जी आर पी लाकर जीडी कर बच्ची रेलवे चाइल्ड लाइन अलीगढ़ की सुपुर्दगी में दे दी ।

बच्ची के पिता से जीआरपी के माध्यम से संपर्क किया गया| वह बच्ची को लेने रेलवे चाइल्ड लाइन आफिस शाम 7:00 तक आ गए रेलवे चाइल्ड लाइन ने अपना सम्पर्क सीडब्ल्यूसी से किया तो सदस्य अजय सक्सेना व् पदमा रानी चाइल्ड लाइन के बूथ पर आये बच्ची को आज ही सी डब्ल्यू सी द्वारा उसके पिता वाहिद व् परिजन अबरार आलम अंसारी के सुपुर्द कर दिया जो बालिका को लेकर बिहार रवाना हो गए|

चाइल्ड लाइन की ओर से टीम सदस्य नासिर अली खान, नीलम सैनी, सीमा कुमारी, रेखा सिंह, जीशान अहमद, वालंटियर शबनम, राजू धीमान आदि का महत्वपूर्ण सहयोग रहा |