स्मार्ट सिटी के अधिकारियों की लापरवाही की बजह से ढहा मंदिर का हिस्सा, हो एफआईआर : गौरव शर्मा

अलीगढ़ के अचल ताल स्थित प्राचीन मंदिर अचलेश्वर महादेव मंदिर का पिछला हिस्सा आज धराशाई हो गई। जिसकी वजह स्मार्ट सिटी द्वारा किए जा रहे हैं  सौन्द्रीयकरण और 24 घंटे से हो रही शहर में बारिश बताई जा रही है। जैसे ही मन्दिर के ढहने की यह सूचना अचलेश्वर महादेव के भक्तों को हुई तो सुबह से ही अचल पर भीड़ इकट्ठा होना शुरू हो गई। लोग इस बात से आक्रोशित थे कि काफी समय से स्मार्ट सिटी के नाम पर अचल सरोवर में सौन्द्रीयकरण का काम चल रहा है लेकिन उदासीनता और लापरवाही की वजह से मंदिर का एक हिस्सा तहस-नहस हो गया और सूचना के बावजूद काफी देर तक विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों ने ना तो फोन उठाया और ना ही कोई सुध ली। लोगों का तो यह भी आरोप था कि इस सौन्द्रीयकरण की पानी में पलने वाली मछलियां मर गई और यहां से मिट्टी का अवैध खनन हुआ जिसकी वजह से आज मंदिर की दीवार ढही है वह तो अचलेश्वर महादेव की कृपा है कि इसमें कोई जनहानि नहीं हुई।

वही अचलेश्वर महादेव मंदिर के एक हिस्से के ढहने की सूचना जब बजरंग दल के महानगर संयोजक गौरव शर्मा को दी गई तो वह अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे और मंदिर परिसर और आसपास क्षतिग्रस्त हुए हिस्सों का मौका मायना किया। घटना से आक्रोशित होकर गौरव शर्मा ने भी नगर निगम के आला अधिकारियों को फोन लगाया लेकिन कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला। इसके बाद मौके पर पूर्व महापौर शकुंतला भारती, कोल विधायक अनिल पाराशर, क्षेत्रीय पार्षद और तमाम हिंदूवादी कार्यकर्ता इकट्ठा हो गए और विभागीय अधिकारी को ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई की मांग करने लगे।

बजरंग दल के महानगर संयोजक गौरव शर्मा ने बताया कि सुबह जैसे ही मुझे जानकारी हुई तो मैं अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचा और मैंने कई बार नगर निगम के नगर आयुक्त को फोन लगाया लेकिन फोन नहीं उठा और विभाग के अधिकारियों ने भी कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया इसलिए कार्यकर्ता आक्रोशित हो गए और नगर निगम के खिलाफ प्रदर्शन करने को मजबूर हुए। गौरव शर्मा ने बताया कि मौके पर आए नगर निगम के सहायक नगर आयुक्त राज बहादुर सिंह के मंदिर परिसर में हुए नुकसान के आंकलन और उसमें मरम्मत के आश्वासन पर ही सभी कार्यकर्ताओं को हटाया गया। गौरव शर्मा ने कहा है कि माँग करते हैं इस घटना में जिम्मेदार ठेकेदार और स्मार्ट सिटी के अधिकारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज हो ताकि भविष्य में इस तरह की घटना की पुनरावृत्ति ना हो

भाजपा युवा मोर्चा के महानगर उपाध्यक्ष राहुल चेतन ने कहा कि स्मार्ट सिटी के नाम पर शहर वासियों के साथ धोखा किया जा रहा है अचल सरोवर में काफी समय से सौन्द्रीयकरण के नाम पर काम चल रहा है लेकिन कोई सतर्कता और सावधानी नहीं बरती गई जिसकी वजह से मंदिर का हिस्सा ढह गया। इसलिए स्मार्ट सिटी के जिम्मेदार अधिकारी और ठेकेदार के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही हो ताकि भविष्य में कोई भी इस तरह की लापरवाही देखने को ना मिले।

हालात को देखते हुए पुलिस प्रशासन और नगर निगम की टीम मौके पर पहुँची और सहायक नगर आयुक्त के नेतृत्व में टीम ने पहुँच मौका मौआयना किया। इस दौरान सहायक नगर आयुक्त राज बहादुर सिंह ने कहा कि अचलताल के सौन्द्रीयकरण के दौरान रात में मंदिर की दीवार गिर गई जिसकी वजह से यहां लोगों में आक्रोश है इसलिए नगर निगम और निर्माण की टीम को साथ लेकर मंदिर परिसर को सुरक्षित कराया जा रहा है। यहां पर स्मार्ट सिटी के तहत मंदिर सुंदरीकरण का काम चल रहा था।